Monday, October 8, 2018

Best Companies for a Graphic Designer to Work | कौन सी कंपनी में नौकरी करें | पैसा ज्यादा कहाँ मिलेगा

Best Companies for a Graphic Designer to Work | कौन सी कंपनी में नौकरी करे | पैसा ज्यादा कहाँ मिलेगा?

दोस्तों! कैसे हो आप सभी मैं आपके लिए आज फिर से एक नई जानकारी ले कर आया हूँ | एक ग्राफ़िक डिज़ाइनर कौन सी कंपनी में नौकरी करे | पैसा ज्यादा कहाँ मिलेगा? और बहुत कुछ....

तो आए जानते है -

Best Companies for a Graphic Designer to Work
दोस्तों! देखो आप को तो पहले किसी भी कंपनी में ज्वाइन करना होगा | किसी भी का मतलब जो आप के पास नॉलेज है उससे रिलेटेड कंपनी हो, आप पहले शुरुआत कीजिये | क्युकि एक्सपीरियंस इस वैरी मस्ट! दोस्तों! आप को कम  पैसे से शुरुआत करनी होगी ये जरूरी नही है कि स्टार्टिंग में ही आपको एक दम से पैसे मिलने लगेगे जिससे आप संतुस्ट हो जाओगे नही ऐसा नही है | पहले मेरी माने तो एक्सपीरियंस लीजिये | फिर आप डिमांड कीजिये जो आप चाहो |

The 8 types of graphic designer.: -

1. Visual identity graphic designer
2. Marketing & advertising graphic designer
3. User Interface Graphic Designer
4. Publication Graphic Designer
5. Packging Graphic Designer
6. Motion Graphic Designer
7. Enviourmental Graphic Designer
8. Art and Illustration for Graphic Designer

दोस्तों! ग्राफ़िक डिज़ाइनर को काफी जानकारी रखनी पड़ती है अपनी फील्ड में डेली अपडेट रहना पड़ता है | मार्किट में नया क्या है क्या चल रहा है और फ्यूचर में क्या नया होना चाहिए | ग्राफ़िक डिज़ाइनर अच्छी तरह जानता है अपने क्लाइंट्स को अपनी और क्लाइंट्स को अपने क्लाइंट्स को कैसे आकर्षित करे | ग्राफ़िक डिज़ाइनर अपने क्लाइंट्स के लिए एक से एक सर्विस और प्रोडक्ट के डिजाईन पर काफी वर्क करता है | जैसे मैंने आपको ऊपर बताया है |

ये जो टाइप्स है आपको इनमे से एक दो में अच्छी तरह से Specialization कर सकते है | मैं आपको डिटेल में बताने की कोशिश करूंगा यहाँ पर - दोस्तों! आपको पता है ग्राफ़िक डिज़ाइनर अपने क्लाइंट्स को कैसे समझाता है वो है अपने डिजाईन बना कर, इमेज के रूप में, कलर के रूप में, और टाइपोग्राफी कर के मैं आपको टाइपोग्राफी अपने पीछे ब्लॉग में बता दिया हूँ आप जा कर रीड कर लीजिये | कि एक ग्राफ़िक डिज़ाइनर के टाइपोग्राफी कितनी इम्पोर्टेन्ट है | आगे चलते है दोस्तों! एक आसान रास्ता है वो है आप एक या दो में Specialization कर लीजिये | फिर आप धीरे धीरे टाइम और एक्सपीरियंस के साथ और में खुद को निखार सकते है ऐसा नही है कि आप एक पर ही टिके रहो बिलकुल नही ग्राफ़िक फील्ड में आप रिसर्च करते रहिये और कुछ नया करते रहिये |

क्युकि नया करने की चाहत ही आपको आगे और सबसे अलग बना सकती है तो जब भी टाइम मिले कुछ नया कीजिये दोस्तों! आपको मैं यहाँ बताना चाहूँगा जब मैं फर्स्ट नौकरी की थी तो आप जानकर हैरान होंगे मेरी स्टार्टिंग सैलेरी केवल ५००० थी | जो मैंने नही की बाद में मुझे बहुत ही अफ़सोस हुआ १ साल घर पर बैठने के बाद फिर मैंने जॉब करने का माइंड बनाया और जॉब की | इस जॉब से मैंने बहुत कुछ सिखा और कुछ टाइम के बाद मैंने कंटिन्यू किया आगे |

1. Visual Identity Graphic Designer.: -

दोस्तों! अब हम बात करते हैं विसुअल आइडेंटिटी ग्राफ़िक डिज़ाइनर के बारे में | तो चलिए - एक ब्रांड जो कंपनी का है "रिलेशन बनाता है क्लाइंट्स और आर्गेनाइजेशन के बीच में" ब्रांड आइडेंटिटी बहुत ही महत्वपूर्ण है किसी भी कंपनी के लिए अगर मार्किट में लोगो के दिलो में विस्वास बनाना है, अपनी सर्विस को अच्छा बना कर लोगो के सामने लाना है तो - विसुअल आइडेंटिटी लोगो को खुद व खुद ही समझाने में ७०% रोल निभाता है और जो ३०% बाकी रह जाता है |

आप लोग बता देते हो जो बिज़नस करता है | इसमें आपका कौन कौन सा डिजाईन आता है वो मैं आपको बता देता हूँ - लोगो, (लोगो के बारे में मैं आपको डिटेल में बता दिया हूँ अपने पिछले ब्लॉग) आप जा कर रीड कर सकते हो | और जान सकते हो दोस्तों क्यकि हमारा लोगो कंपनी की जड़ है पहचान है बुनिआद है | लोगो आप को और आपके बिज़नस और कंपनी को मार्किट में पहचान देता है | दुसरे पर है - विसिटिंग कार्ड (आप मेरे पिछले ब्लॉग में जा कर डिटेल में रीड कीजिये) विसिटिंग कार्ड क्या रोल निभाता है आपके बिज़नस में दोस्तों! आगे है - कैटलॉग डिजाईन, कॉर्पोरेट Stationary, कैर्री बैग, (माल में शौपिंग के टाइम आप को दिया जाता है याद कीजिये- जब आप सामान ले कर आते हो और बहुत खुश होते हो), लैटर हेड, और बहुत कुछ | दोस्तों!

2. Marketing & advertising graphic designer.: -

दोस्तों! बहुत से लोग ये जानते है कि जो कम्पनीज है खुद अपना डिजाईन बनाती है नही, इसके पीछे जो माइंड और कांसेप्ट होता है वो है डिज़ाइनर कौन सा डिज़ाइनर आप लोग- ग्राफ़िक डिज़ाइनर और कौन? ग्राफ़िक डिज़ाइनर ही है जो कंपनी को मार्किट में एक अलग पहचान दिलाता है, ये काम एक डिज़ाइनर नही कर सकता है इसके लिए एक ख़ास टीम होती है | वर्क के हिसाब से टीम होती है जो सब मिलकर कुछ नया करता है और सबका काम डिफाइन होता है |किसको क्या करना है सबका अपना टास्क होता है |
Marketing & Advertising Graphic Designer_Logo Design
Examples of marketing graphic design.: -
  • Postcards and flyers
  • Magazine and newspaper ads
  • Posters, banners and billboards
  • Infographics
  • Brochures (print and digital)
  • Vehicle wraps
  • Signage and trade show displays
  • Email marketing templates
  • PowerPoint presentations
  • Menus
  • Social media ads, banners and graphics
  • Banner and re-targeting ads
  • Images for websites and blogs 
Examples of Marketing Graphic Design
दोस्तों! मार्केटिंग डिज़ाइनर कम टाइम में और सही टाइम पर क्लाइंट्स को क्या डिजाईन देना है जिससे अगली पार्टी को एक अच्छा सा मेसेज पहुच सके, और मार्केटिंग डिज़ाइनर के अंदर प्रोब्लम सोल्विंग, कम्युनिकेशन स्किल्स, औरमैनेजमेंट स्किल्स का गुण होना जरूरी होता है | और नये सॉफ्टवेर से रूबरू होना और अच्छी जानकारी के साथ काफी सारे ग्राफ़िक पर वर्क करना आना चाहिए | और प्रिंट और ऑनलाइन प्रमोशन की जानकारी होना अनिवार्य है | क्युकि आज का ट्रेंड है | ऑनलाइन प्रमोशन मैं जल्दी ऑनलाइन प्रमोशन के ऊपर जानकारी ले कर आऊंगा | जो आज के टाइम में बहुत ही जरूरी है |

3. User interface graphic designer.: -

दोस्तों! बात करते है UI Design है क्या? आसान शब्दों में समझाता हूँ आपको तो चलिए - आपके और किसी डिवाइस के बीच जो इंटरेक्शन होता है उस डिजाईन इंटरफ़ेस को जो प्रेजेंट करता है उसे "यूजर इंटरफ़ेस" डिजाईन कहते है | और एक उदा. से समझते हैं कोई यूजर है समझो वो अपने ऑफिस में मोबाइल देख रहा है - अगर आवाज स्लो करनी है या ज्यादा करनी है तो वो आसानी से समझ जाता है कि आवाज कहाँ से तेज होगी या स्लो होगी | क्युकि डिजाईन इस तरह से किया गया है इंटरफ़ेस कई आम यूजर भी आसानी से समझ जाता है |

"A UI includes all of the things a user interacts with—the screen, keyboard and mouse"

दोस्तों! यही प्रिंसिपल ग्राफ़िक डिज़ाइनर इस्तेमाल करता है | मोबाइल थीम और वेबसाइट थीम बनाने में, दोस्तों! UI डिजाईन का मतलब ये नही है कि आपका डिजाईन कैसा है | बल्कि यह है की वह काम कैसे करता है | UI डिजाईन करते समय ध्यान देने वाली बाते -  
UI Templates Design
Target Audience.: 
जैसे  अगर आप बच्चो के लिए कोई डिजाईन बना रहे है तो आपको पहले से ही माइंड में लेकर चलना होगा कि आप जो डिजाईन बना रहे हो वो पूरा कांसेप्ट हो बच्चो के ऊपर, अगर आप एडल्ट के लिए कोई डिजाईन बना रहे हो तो माइंड में लेकर चलना होगा यहाँ पर ये ध्यान देना कि आपका प्रोडक्ट यानि आपकी थीम उसे करने वाला कौन सा यूजर होगा | 

Clear Message.:
दोस्तों! आपके द्वारा बनाया गया डिजाईन का क्लियर मेसेज आपके ऑडियंस तक जाना चाहिए | ये न हो जो थीम आप ने डिजाईन की आपका यूजर समझ न पाए | कहाँ पर क्या होगा और कहाँ पर क्या | यानि होम बटन कहाँ होना चाहिए, नेव्स्लेत्टर कहा होना चाहिए, हैडर और फूटर कहाँ होना चाहिए, और बहुत कुछ दोस्तों! एक दम क्लियर मेसेज हो, जिससे यूजर आसानी से समझ सके | आपके कंटेंट अच्छी तरह से विसिब्ल होने चाहिए ये न हो यो आपने डिजाईन बनाये है इफेक्टिव ही न हो समझ में ही न आये यूजर को | 

यूजर भाग जायेगा आपकी वेबसाइट से हो सकता है कि आपकी वेबसाइट पर फिर कभी आये ही न | आपके डिजाईन थीम के साथ साथ आपका ग्राफ़िक भी क्लियर और अच्छे लुक में होना चाहिए जो मेसेज फुल हो लोगो को समझ आ जाये आसानी से |  

Examples of user interface graphic design.: -
  • Web page design
  • Theme design (WordPress, Shopify, etc.)
  • Game interfaces
  • App design

4. Publication graphic design.: -

दोस्तों! पब्लिकेशन ग्राफ़िक डिजाईन एक ट्रेडिसनल रास्ता है जो अपनी सर्विस के जरिये डिस्ट्रीब्यूटर से होते हुए क्लाइंट्स तक पहुंचता है | पब्लिकेशन पुराने जमाने से प्रचलित है | जरा सोचिए बचपन अपना बुक, मैगज़ीन, कॉमिक बुक, और नेवसपपेर जो आज भी प्रचलित है | और आज के टाइम में कही न कही डिजिटल माध्मय से लोगो के पास जानकारी की भी शेयर किया जा रहा है | पब्लिकेशन डिजाईन में लेआउट का बहुत ध्यान रखते हुए ग्राफ़िक बनाते है |
Publication Book Graphic Design
पब्लिकेशन दो लोगो पर डिपेंड होता है एक है - एडिटर और दूसरा है - पब्लिशर, पब्लिकेशन डिजाईन में टाइपोग्राफी, लेआउट, कलर - कॉम्बिनेशन, इलस्ट्रेशन का बहुत ही ध्यान रखते है |

Examples of publication graphic design.: -

  • Catalogs
  • Books
  • Newsletters
  • Directories
  • Annual reports
  • Magazines
  • Newspapers

दोस्तों! पब्लिकेशन डिज़ाइनर का कम्युनिकेशन काफी अच्छा, इफेक्टिव और स्ट्रोंग होना चाहिए | लेआउट और आर्गेनाइजेशन स्किल होना अनिवार्य है | और कलर मैनेजमेंट, पब्लिशिंग और डिजिटल पब्लिशिंग तकनीकी जानकारी मस्ट होनी चाहिए |धीरे - धीरे एक टाइम के बाद ये सभी गुण आ ही जाते है लेकिन किसी भी काम में लगातार लगे रहा होंगा |

5. Packaging graphic design.: -

दोस्तों! चलो कुरकुरे खा लेते है, जानकारी काफी हो गयी - मजाक कर रहा हूँ, कुरकुरे तो आप को याद ही होगा, बिस्कुट, नमकीन, केक, गिफ्ट बॉक्स, क्या आप को पता है इन सब पैकेज को डिजाईन कौन करता है | सोचिये - ग्राफ़िक डिज़ाइनर हर एक प्रोडक्ट का साइज़, का अलग - अलग टेम्पलेट डिजाईन, स्केल, डायमेंशन, कलर - कॉम्बिनेशन, लेबल और बहुत सी चीजो का ध्यान रख कर डिजाईन तेयार किया जाता है | पैकेजिंग डिजाईन करते समय अच्छा ख़ासा एक्सपीरियंस होना मस्ट है दोस्तों! पैकेज डिजाईन यही पर खत्म नही हो जाता आप जो डिजाईन करते हो डिजाईन के बाद कई सीनियर उस डिजाईन को पास करते है फिर आगे डिजाईन की फोटोग्राफी होती है, Photo Retouch होता है |
Packaging Graphic Design

जो फोटोशोप का पार्ट है | फिर आगे अगर आप को डिजिटल प्रमोशनल करना है तो वेबसाइट पर प्रोडक्ट को अपलोड किया जाता है | कई फंक्शन से हो कर गुजरना पड़ता है पच्क्गिंग और प्रोडक्ट डिजाईन को |-

6. Motion Graphic Design.: -

दोस्तों! 2d डिजाईन के साथ - साथ आजकल मार्किट में मोशन ग्राफ़िक की काफी ज्यादा डिमांड है |   मोशन ग्राफ़िक लोगो को जल्दी समझ में आने के साथ - साथ माइंड में एक फिल्म के याद हो जाता है | मोशन ग्राफ़िक में जो सॉफ्टवेर इस्तमाल होते है वो है - पहले तो स्केत्चिंग, एडोबी के सॉफ्टवेर (फोटोशोप, इलस्ट्रेटर, आफ्टर इफ़ेक्ट, और ऑडियो और विडियो मिक्सिंग के सॉफ्टवेर) मोशन ग्राफ़िक में इन्क्लुड़ होता है आपका एनीमेशन (आत्मा डाल देता है आप ग्राफ़िक के अंदर), मोशन ग्राफ़िक न्यूज़ चैनल, टीवी शो, फिल्म,)

आज कल मोशन ग्राफ़िक की डिमांड में काफी इजाफा हुआ है | करियर के रूप में काफी अच्छा आप्शन है मोशन ग्राफ़िक | स्केत्चिंग- क्युकि मोशन ग्राफ़िक आर्टिस्ट डायरेक्ट कंप्यूटर स्क्रीन पर चीजो को बनाने नही लगते | एक कांसेप्ट होता है, स्टोरी बोर्डिंग होती है जो स्केत्चिंग आर्टिस्ट बनाते है, क्युकि आपको पता है आइडियाज माइंड में तुरंत नही आते | काफी सोचना पड़ता है तब जा कर कही स्केच से कंप्यूटर पर चीजे
बनती है |

Examples of motion graphic design.: -
  • Title sequences and end credits
  • Advertisements
  • Animated logos
  • Trailers
  • Presentations
  • Promotional videos
  • Tutorial videos
  • Websites
  • Apps
  • Video games
  • Banners
  • GIFs


7. Environmental graphic design.: -

"Wayfinding is a specific type of environmental graphic design that consists of strategic signage, landmarks and visual cues that help people identify where they are and where they need to go so they can get there without confusion." 

दोस्तों! चलो अब कर लेते है, Environmental ग्राफ़िक डिजाईन की | जो आज के टाइम में बहुत ही इफेक्टिव है |

Examples of environmental graphic design.: -


  • Signage
  • Wall murals
  • Museum exhibitions
  • Office branding
  • Public transportation navigation
  • Retail store interiors
  • Stadium branding
  • Event and conference spaces


8. Art and illustration for graphic design.: -

Examples of art and illustration for graphic design.: -
  • T-shirt design
  • Stock images
  • Graphic patterns for textiles
  • Video games
  • Websites
  • Book covers
  • Comic books
  • Album art
  • Infographics
  • Picture books
  • Graphic novels
  • Technical illustration
  • Concept art
  • Motion graphics
Art and Illustration for Graphic Design
दोस्तों! अब मैं उम्मीद करता हूँ कि आप लोग अच्छी तरह से समझ गये होंगे| ग्राफ़िक डिजाइनिंग एक उभरता हुआ करियर है कोर्स करने के बाद आप Specilization पर ध्यान दीजिये | एक या दो में | फिर धीरे - धीरे आप टाइम के साथ खुद को निखार लीजिये क्युकि आज के दौर में स्किल्स इस मस्ट |

आज का विचार - 
दोस्तों! मुझे आज के विचार पर बात करना बहुत ही अच्छा लगता है | जो मैं आपके साथ शेयर करता हूँ अपनी हर पोस्ट में | जो मैं खुद के एक्सपीरियंस और अपने मोटिवेशन स्पीकर से सिखा है |

दोस्तों! मैं आपको विस्वास दिलाता हूँ कि यदि आप एक बार थोड़ी सी मेहनत कर ले तो और अपनी विभाजक रेखाओ को पहचान ले, तो उसी पल से जिन्दगी की एक नई आशा के साथ आपकी मेहनत जरुर सफल होगी |
चेतना के अंदर खड़ी दीवारों को एक बार पहचान हो जाने के बाद अब जरूरत रहती है, उन पर लगातार और बार - बार चोट कर - कर गिराने की | यह आसान काम नही है किन्तु मुस्किल भी नही है दोस्तों |

बस आप ठान लो काम को कि आपको करना है बस करना है तो आप कर ही लोगो | काम को बड़े स्तर न करके छोटे स्तर से ही शुरू करे, धीरे धीरे आपके काम का स्तर बड़ा हो ही जायेगा दोस्तों! तो उठिए और शुरू कीजिये | फिर मिलते है अपनी अगली पोस्ट में | खुदा-हाफिज दोस्तों !

डिज़ाइनर. कमल जीत मौर्या 
designhungry.slidescope.com
ई-मेल.: kamalmauriya@gmail.com
मो.: +91 81150-43642